समाजवादी पार्टी ने मायावती पर कसा तंज, कहा-BSP सुप्रीमो के बयान से साबित हो गया कि उनकी बीजेपी से....

बसपा सुप्रीमो मायावती के बयान पर सपा ने पलटवार किया है (फाइल फोटो)

खास बातें

  • RS चुनाव में सपा प्रत्‍याशी को हराने को लेकर दिया था बयान
  • मायावती ने कहा था, इसके लिए BJP का समर्थन करने को भी तैयार
  • सपा ने कहा, बयान से साबित हुआ मायावती की बीजेपी से है साठगांठ

लखनऊ:

समाजवादी पार्टी (SP) ने राज्यसभा चुनाव (Rajya Sabha elections) में सपा प्रत्याशियों को हराने के लिए भारतीय जनता पार्टी (BJP) तक का समर्थन करने के बसपा प्रमुख मायावती (BSP Chief Mayawati) के बयान पर तंज करते हुए कहा है कि इससे साबित हो गया कि मायावती की भाजपा से पहले से ही साठगांठ है.सपा के राष्ट्रीय सचिव एवं प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने बृहस्पतिवार को बातचीत में कहा कि मायावती का बयान इस बात की स्वीकारोक्ति है कि उनकी बीजेपी  से पहले ही सांठगांठ थी.उन्होंने कहा कि बीजेपी  से इसी अंदरूनी समझौते की वजह से मायावती ने विधानसभा में पर्याप्त संख्या बल ना होने के बावजूद अपना प्रत्याशी मैदान में उतारा और अब यह कहकर कि राज्यसभा चुनाव में सपा को हराने के लिए वह बीजेपी तक का समर्थन कर सकती हैं, बसपा प्रमुख ने अपनी पोल खुद ही खोल दी है.

यह भी पढ़ें

“अगर हमें भाजपा को भी वोट करना पड़े तो… ” मायावती ने पूर्व सहयोगी अखिलेश यादव पर हमला बोला

चौधरी ने कहा कि मात्र 18 विधायकों वाली बसपा के पास अब विधानसभा में केवल 10-11 विधायक ही हैं, जबकि राज्यसभा के एक प्रत्याशी को जिताने के लिए 38 विधायकों का समर्थन जरूरी है. इसके बावजूद मायावती ने रामजी लाल गौतम को उम्मीदवार बनाया. ऐसा करने से पहले उन्होंने विपक्ष के किसी भी दल से समर्थन नहीं मांगा. दूसरी ओर, बीजेपी ने नौ सीटें जीतने की स्थिति में होने के बावजूद आठ उम्मीदवार ही उतारे. उसी वक्त जाहिर हो गया था कि मायावती की भाजपा से सांठगांठ हो चुकी है.

हाथरस केस: मायावती ने कहा, ‘विपक्षी नेताओं से बदसलूकी ”शर्मनाक”, रवैया बदले योगी सरकार’

गौरतलब है कि मायावती ने अपने कुछ विधायकों के पाला बदलने की अटकलों के बीच बृहस्पतिवार को संवाददाताओं से बातचीत में सपा पर निशाना साधा और कहा कि भविष्य में विधान परिषद और राज्यसभा चुनाव में सपा के उम्मीदवारों को हराने के लिए उनकी पार्टी कोई कसर नहीं छोड़ेगी. जरूरत पड़ी तो बीजेपी या किसी अन्य पार्टी के प्रत्याशी को समर्थन देगी. उत्‍तर प्रदेश की 403 सदस्यीय विधानसभा में 18 विधायकों वाली बसपा के सात विधायकों ने बुधवार को बगावत करते हुए राज्यसभा उम्मीदवार रामजी लाल गौतम का विरोध किया था. पार्टी प्रमुख मायावती ने अपनी पार्टी के सात बागी विधायकों को निलंबित कर दिया. इन विधायकों ने राज्यसभा चुनाव के लिए पार्टी प्रत्याशी रामजी गौतम के नामांकन का विरोध किया था.

7 विधायकों की बगावत पर बिफरी BSP सुप्रीमो मायावती

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Source link

By admin

Leave a Reply