'हाथरस के डीएम पर योगी सरकार चुप क्यों?' मायावती ने CBI जांच पर भी उठाए सवाल

पूर्व सीएम मायावती ने हाथरस मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर हमला बोला है.

खास बातें

  • बसपा सुप्रीमो मायावती ने हाथरस मामले में खोल रखा है योगी के खिलाफ मोर्चा
  • डीएम प्रवीण कुमार को नहीं हटाने पर सीएम से पूछे सवाल
  • मामले में प्राथमिक जांच के बाद हाथरस एसपी समेत कई हो चुके सस्पेंड

लखनऊ:

बहुजन समाज पार्टी (Bahujan Samaj Party) की मुखिया और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती (Mayawati) ने हाथरस गैंगरेप मामले में वहां के डीएम को नहीं हटाने पर सीएम योगी आदित्यनाथ पर हमला बोला है. उन्होंने पूछा है कि कि सीएम डीएम के मामले पर चुप क्यों हैं? पूर्व सीएम ने सोशल मीडिया पर ट्वीट किया है, “हाथरस गैंगरेप काण्ड के पीड़ित परिवार ने जिले के डीएम पर धमकाने आदि के कई गंभीर आरोप लगाए हैं, फिर भी यूपी सरकार की रहस्मय चुप्पी दुःखद व अति-चिन्ताजनक… हालाँकि सरकार CBI जाँच हेतु राजी हुई है, किन्तु उस डीएम के वहाँ रहते इस मामले की निष्पक्ष जाँच कैसे हो सकती है? लोग आशंकित…”

 

यह भी पढ़ें

योगी सरकार ने मामले में हंगामा बढ़ता देख जिले के एसपी को निलंबित कर दिया था, जबकि डीएम प्रवीण कुमार अभी भी पद पर बने हुए हैं. प्राथमिक जांच रिपोर्ट के आधार पर सीएम ने मौजूदा एसपी, डीएसपी, इंस्पेक्टर और कुछ अन्य के खिलाफ सस्पेंशन की कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे. एसआईटी की रिपोर्ट में हाथरस के पुलिस अधीक्षक विक्रांत वीर पर लापरवाही का आरोप लगा था.

BJP के राज में दलित-अल्पसंख्यक और किसानों पर जुल्म : ममता बनर्जी

डीएम पर कार्रवाई नहीं होने से आईपीएस एसोसिएशन भी नाराज है. पीड़िता के परिवार ने भी डीएम पर धमकाने और दबाव डालने के आरोप लगाए थे. सूत्रों के मुताबिक एसोसिएशन का कहना है कि किसी भी मामले में सिर्फ पुलिस प्रशासन दोषी कैसे हो सकता है? योगी सरकार ने इस मामले की सीबीआई से जांच करने की भी सिफारिश की है.

हाथरस गैंगरेप : पीड़ित परिवार के साथ खड़ा विपक्ष, मांगे बगैर CBI जांच की सिफारिश, 10 बड़ी बातें

वीडियो: हाथरस केस पर बीजेपी विधायक का शर्मनाक बयान





Source link

By admin

Leave a Reply