[ad_1]

बिहार विधानसभा चुनाव अकेले लड़ने के फैसले के बाद लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान ने कहा,

लोकजनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान (फाइल फोटो).

नई दिल्ली:

लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) ने रविवार को नई दिल्ली में एक बैठक के बाद बिहार में आगामी विधानसभा चुनाव में अकेले जाने का निर्णय लिया है. पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने सवाल पूछे जाने पर कि क्या लोजपा ने भाजपा के साथ गठबंधन किया है, जवाब दिया, “मुझे इस पल का आनंद लेने दीजिए.” दिल्ली में अपने निवास पर पार्टी के केंद्रीय संसदीय बोर्ड की बैठक के बाद जीत का संकेत देते हुए, उन्होंने कहा: “मैं अधिक नहीं बोलूंगा लेकिन हम लड़ाई जीतेंगे.”

यह भी पढ़ें

लोजपा के राष्ट्रीय महासचिव अब्दुल खालिक ने कहा, “लोक जनशक्ति पार्टी, वैचारिक मतभेद के कारण जनता दल (यूनाइटेड) के साथ आगामी बिहार चुनाव नहीं लड़ेगी.” लेकिन लोजपा ने स्पष्ट किया कि उनके मतभेद जेडीयू के साथ हैं न कि भाजपा के साथ. खालिक ने कहा, “राष्ट्रीय स्तर पर और लोकसभा चुनावों में, लोक जनशक्ति पार्टी का भाजपा के साथ मजबूत गठबंधन है और हमारे उम्मीदवार जेडीयू के खिलाफ चुनाव लड़ेंगे.”

यह भी पढ़ें: चिराग के फैसले को आख़िर ‘भाजपा के नीतीश हटाओ, अपना मुख्यमंत्री बनाओ’ से क्यों जोड़ा जा रहा?

लोजपा नीतीश कुमार की जदयू के खिलाफ उम्मीदवार खड़ा करेगी, हालांकि, पार्टी अपने उम्मीदवारों को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के खिलाफ नहीं उतारेगी. आज की बैठक पहले शनिवार को होने वाली थी, लेकिन चिराग पासवान के पिता, केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के अस्पताल में भर्ती होने और बाद में दिल्ली के एक अस्पताल में दिल की सर्जरी के बाद इसे स्थगित कर दिया गया.

चिराग ने कल ट्विटर पर “बिहार पहले बिहारी पहले” एलजेपी का एक विज़न डॉक्यूमेंट साझा किया था. उन्होंने कहा कि दस्तावेज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से प्रेरित है और उन्होंने कहा है कि राज्य के लोग उन्हें बिहार बनाने और अपना गौरव बहाल करने के लिए आशीर्वाद देंगे ताकि “मेरे सभी उम्मीदवार प्रधानमंत्री के हाथों को मजबूत कर सकें.”

बता दें कि बिहार विधानसभा चुनाव तीन चरणों में 28 अक्टूबर, 3 नवंबर और 7 नवंबर को होंगे और मतगणना 10 नवंबर को होगी.

बिहार चुनाव : जेडीयू से दूर, बीजेपी के साथ एलजेपी

[ad_2]

Source link

By admin

Leave a Reply